Breaking News
Home / CRIME / ऐशो-आराम की जिंदगी बसर करने वाली हनीप्रीत की हवालात में पहली रात

ऐशो-आराम की जिंदगी बसर करने वाली हनीप्रीत की हवालात में पहली रात

Spread the love

ब्यूराे
पुलिस शिकंजे में हनीप्रीत की हालत बिगड़ गई है। पंचकूला के चंडी मंदिर थाने में बंद हनीप्रीत के सीने में दर्द की शिकायत के बाद उसे अस्पताल ले जाया गया है। आज उसे कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड ली जाएगी। हवालात में हनीप्रीत की पहली रात भारी बेचैनी में गुजरी। कल आधी रात में पंचकूला के सिविल अस्पताल में उसका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया।

38 दिन से सारी दुनिया की नज़रों से ओझल रही हनीप्रीत अब मीडिया और उसके सवालों से बच नहीं सकी। कभी कैमरे पर तरह तरह की अदाओं से इतराने वाली और 21 तरह के किरदार बदलने वाली हनीप्रीत मीडिया से बचने के लिए चेहरा ढंके तेज़ कदमों से भागती जा रही थी। उससे कई सवाल हुए, लेकिन वो एक ही रट लगाए है कि वो बेकसूर है।

पुलिस की कड़ी घेराबंदी में मेडिकल कराने आधी रात में सिविल अस्पताल पहुंची हनीप्रीत को अपने बचाव के लिए भी पुलिसवालों का ही सहारा लेना पड़ा। हनीप्रीत के साथ पकड़ी गई उसकी साथी और डेरा समर्थक बठिंडा की रहने वाली सुखदीप का भी मेडिकल टेस्ट कराया गया है। हनीप्रीत के अंदर अब मीडिया का सामना करने का ताब नहीं बचा है।

पुलिस पूछताछ का सामना करती हनीप्रीत

हनीप्रीत पुलिस थाने की हवालात के सख्त फर्श पर रातभर चैन से सो भी नहीं सकी। सारी रात उसे याद आता रहा सुनारिया जेल में बंद राम रहीम और सताता रहा अपने अंजाम का खौफ। हनीप्रीत के हालात बदले तो तस्वीर बदल गई. 25 अगस्त से पहले राजरानी जैसे ऐशो-आराम की जिंदगी गुज़ारने वाली हनीप्रीत कानून से छिपती दर-दर भटकती रही।

हनीप्रीत को उसकी एक महिला साथी के साथ मंगलवार की दोपहर 3 बजे पुलिस ने पकड़ा। इसके बाद पुलिस हनीप्रीत और उस महिला को करीब 4 बजे पंचकूला के सेक्टर-23 में बने चंडी मंदिर थाने लाई। करीब एक घंटा कागज़ी कार्यवाही के बाद हनीप्रीत से पूछताछ शुरू हुई। पहले राउंड की ये पूछताछ करीब 2 घंटे चली। इसके बाद उसका हवालात से सामना हुआ। हनीप्रीत ने केवल हवालात की चाय पी रात का खाना वापस लाैटा दिया।
हवालात में हनीप्रीत को सिर्फ 2 कंबल मिले । उसके साथ पकड़ी गई साथी महिला भी उसी हवालात में रखी गई है। हनीप्रीत ने ना ही रात का खाना खाया, ना ही रातभर वो चैन से सो सकी। उसकी पूरी रात बेचैनी में कटी है। कभी वो बेचैनी से हवालात में टहलती रही, तो कभी दीवार से टेक लगाकर बैठी रही। कभी अपनी साथी महिला से हल्की-फुल्की बात करती रही।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

आधार से बैंक खाता जोड़ने का आदेश केन्‍द्र सरकार का है आरबीआई का नहीं

Spread the loveब्‍यूरो सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद आधार काे बैंक खाते से लिंक कराने ...